अब फ्लाइट से सीधे नॉर्थ गोवा पहुंच सकेंगे:मोपा एयरपोर्ट पर कैसीनो, रिसॉर्ट और शॉपिंग प्लाजा; नाइट पार्किंग की भी सुविधा

भारत के पॉपुलर टूरिस्ट प्लेस गोवा में अब दो एयरपोर्ट हो गए हैं। साउथ गोवा में पहले से बने डाबोलिम एयरपोर्ट के बाद नॉर्थ गोवा में मोपा एयरपोर्ट भी तैयार हो गया है। नए एयरपोर्ट से गोवा की कनेक्टिविटी बढ़ेगी और टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा। जो पर्यटक नॉर्थ गोवा आना चाहते हैं, वे अब सीधे इसी एयरपोर्ट से पहुंच सकेंगे।

मोपा एयरपोर्ट से A380 जैसे जंबो एयरक्राफ्ट भी उड़ान भर सकते हैं और लैंड कर सकते हैं। इस एयरपोर्ट पर नाइट पार्किंग की सुविधा भी मिलेगी। वहीं यहां कैसीनो, इको रिसॉर्ट और शॉपिंग प्लाजा बनाए गए हैं। वर्तमान में मोपा एयरपोर्ट की क्षमता हर साल 44 लाख पैसेंजर को सर्व करने की है, जिसे बढ़ाकर 3.3 करोड़ तक किया जा सकता है।

मनोहर पर्रिकर के नाम पर बना नया एयरपोर्ट
नए बने मोपा एयरपोर्ट का नाम राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के नाम पर रखा गया है। पहले से बने डाबोलिम एयरपोर्ट से मोपा की दूरी करीब 50 किलोमीटर है। इस एयरपोर्ट पर ऑपरेशन 5 जनवरी 2023 से शुरू होंगे। हम आपको इस एयरपोर्ट की खासियत से लेकर उड़ानों सहित अन्य चीजों के बारे में बता रहे हैं

नया एयरपोर्ट क्यों बनाया गया?
मौजूदा डाबोलिम एयरपोर्ट, इंडियन नेवी के INS हंसा का हिस्सा है और सिविलियन फ्लाइट को संभालता है। यह साउथ गोवा में वास्को टाउन के पास स्थित है, जबकि नया एयरपोर्ट गोवा-महाराष्ट्र बॉर्डर पर नॉर्थ गोवा के पेरनेम तालुका में बना है। पुराने एयरपोर्ट का निर्माण पुर्तगाली युग के दौरान वर्ष 1955 में किया गया था, लेकिन 2013 में उसे अपग्रेड कर दिया गया था।

2,870 करोड़ में बने मोपा एयरपोर्ट के पहले फेज का इनॉगरेशन पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को किया। एयरपोर्ट का काम 4 फेज में पूरा होगा। अभी मोपा एयरपोर्ट की क्षमता हर साल 44 लाख पैसेंजर को सर्व करने की है, जिसे बढ़ाकर 3.3 करोड़ तक किया जा सकता है।

डाबोलिम एयरपोर्ट की वर्तमान क्षमता 8.5 मिलियन पैसेंजर पर एनम (MPPA) है यानी यहां हर साल 85 लाख यात्रियों को संभालने की कैपेसिटी है। इस एयरपोर्ट के पैसेंजर कैपेसिटी बढ़ाने की सीमित गुंजाइश थी, इसलिए नए एयरपोर्ट को बनाया गया है।

मोपा एयरपोर्ट पर नाइट पार्किंग की सुविधा
डाबोलिम एयरपोर्ट पर रात में पार्किंग की सुविधा नहीं थी। मोपा पर यह सुविधा है। वहीं डाबोलिम एयरपोर्ट पर कार्गो यानी माल परिवहन की सुविधा नहीं है, जबकि मोपा में 25 हजार मीट्रिक टन की क्षमता वाली कार्गो सुविधा होगी।

Coming soon Goas New Airport To Push Tourism and Boost Job Prospects

MOPA से कितनी फ्लाइट ऑपरेट होंगी?
वर्तमान में, डाबोलिम एयरपोर्ट 170 डेली फ्लाइट ऑपरेट करता है, जिसमें चार से पांच डायरेक्ट इंटरनेशनल फ्लाइट शामिल हैं। ओमान एयर के अलावा किसी अन्य एयरलाइन ने यह घोषणा नहीं की है कि वह डाबोलिम से ऑपरेशन बंद कर देगी। मोपा एयरपोर्ट से 35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल लोकेशन्स की कनेक्टिविटी होगी।

इंडिगो और गो एयर ने MOPA एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू करने का ऐलान किया है। गो फर्स्ट हर हफ्ते 42 डायरेक्ट फ्लाइट ऑपरेट करेगा। 5 जनवरी से ये एयरलाइन मुंबई, हैदराबाद और बेंगलुरु के लिए फ्लाइट शुरू कर रही है। वाडिया ग्रुप की एयरलाइन, वर्तमान में डाबोलिम से और के लिए 65 नॉन-स्टॉप फ्लाइट ऑपरेट करती है।

वहीं इंडिगो मोपा एयरपोर्ट से हर दिन 12 फ्लाइट ऑपरेट करेगा और हफ्ते में कुल 168 नई फ्लाइट संचालित करेगा। ये पुणे, जयपुर, हैदराबाद समेत 8 शहरों को जोड़ेगी। हालांकि विस्तारा, एयर एशिया, एअर इंडिया जैसी एयरलाइन्स ने अभी कोई ऐलान नहीं किया है।

Goa's Dabolim airport to remain closed at night; undergoes maintenance |  Latest News India - Hindustan Times

एयरपोर्ट में 5G कॉम्पेटिबल IT इंफ्रास्ट्रक्चर
मोपा एयरपोर्ट को सस्टेनेबल इंफ्रास्ट्रक्चर की थीम पर बनाया गया है। इसमें सोलर पावर प्लांट, ग्रीन बिल्डिंग, पनवे पर LED लाइट, रेन वाटर हार्वेस्ट्रिंग और रीसाइक्लिंग सुविधाओं के साथ अत्याधुनिक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट जैसी फैसिलिटी है। इसने 3-डी मोनोलिथिक प्रीकास्ट बिल्डिंग, स्टेबिलरोड, रोबोमैटिक होलो प्रीकास्ट वॉल और 5जी कॉम्पेटिबल आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर जैसी कुछ बेस्ट-इन-क्लास तकनीकों को अपनाया है।

4 फेज में पूरा होगा मोपा एयरपोर्ट का काम
मोपा एयरपोर्ट को चार फेज में विकसित किया जा रहा है। पहले फेज को 44 लाख पैसेंजर्स को संभालने के लिए डिजाइन किया गया है। दूसरे पेज में 58 लाख, तीसरे फेज में 94 लाख और चौथे फेज में 1.31 करोड़ पैसेंजर को संभालने की कैपेसिटी डेवलप की जाएगी। चारों फेज को मिलाकर एयरपोर्ट की पैसेंजर को सर्व करने की कैपेसिटी 3.3 करोड़ हो जाएगी।

After several aborted take-offs, Goa to finally get a new international  airport today - BusinessToday

ज्यादा पर्यटक पहुंचेंगे, इकोनॉमी को बूस्ट मिलेगा
गोवा की आय का एक बड़ा हिस्सा ट्रैवल इंडस्ट्री से आता है। यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या राज्य की जनसंख्या से करीब चार गुना ज्यादा है। नार्थ गोवा में कैंडोलिम बीच, आरामबोल बीच, चापोरा फोर्टजैसी कई जगहें है। मोपा एयरपोर्ट के बनने से गोवा की कनेक्टिविटी में सुधार होगा। इससे टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा। जो भी पर्यटक नॉर्थ गोवा आना चाहते हैं वो सीधे यहां पहुंच सकेंगे। मोपा एयरपोर्ट गोवा की राजधानी पणजी से 35 किलोमीटर की दूरी पर है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *