क्रिप्टो इनवेस्टर्स की शिकायतें दूर करेंगी निर्मला सीतारमण, क्रिप्टो मार्केट में दोबारा आएगी रौनक

पिछले बजट में सीतारमण ने क्रिप्टो एसेट से हुए प्रॉफिट पर 30 फीसदी टैक्स लगाने का ऐलान किया था। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसके बजाय इनवेस्टर के इनकम टैक्स स्लैब के हिसाब से टैक्स लगाया जा सकता हैा। इसके अलावा वर्चुअल एसेट के ट्रांजेक्शन पर 1 फीसदी TDS भी लगाया गया था

Union Budget 2023: क्रिप्टोकरेंसी (Crypto Currency) मार्केट में पिछले 9-10 महीनों से रौनक गायब है। पिछले बजट में फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने क्रिप्टो एसेट यानी Virtual Digital Assets (VDAs) पर टैक्स लगाने का ऐलान किया था। इसका असर क्रिप्टो इनवेस्टर्स और ट्रेडर्स दोनों पर पड़ा है। पिछले बजट में सीतारमण ने क्रिप्टो एसेट से हुए प्रॉफिट पर 30 फीसदी टैक्स लगाने का ऐलान किया था। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसके बजाय इनवेस्टर के इनकम टैक्स स्लैब के हिसाब से टैक्स लगाया जा सकता है।। इसके अलावा वर्चुअल एसेट के ट्रांजेक्शन पर 1 फीसदी TDS भी लगाया गया था। इसका असर क्रिप्टो इनवेस्टर्स के सेंटिमेंट पर पड़ा है। वित्त मंत्री 1 फरवरी, 2023 को पेश होने वाले बजट (Budget 2023) में क्रिप्टो इनवेस्टर्स और ट्रेडर्स की शिकायतों को दूर कर सकती हैं। इससे क्रिप्टो मार्केट में दोबारा रौनक आ सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *