Ambuja सीमेंट को खरीदने के लिए अडानी ने बढ़ाए कदम, JSW भी है रेस में

मार्च, 2022 में समाप्त पहली तिमाही के दौरान अंबुजा का मुनाफा 30.26 प्रतिशत घटकर 856.46 करोड़ रुपये पर आ गया। तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 2.4 प्रतिशत बढ़कर 7,900.04 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।

Ambuja सीमेंट को खरीदने के लिए अडानी ने बढ़ाए कदम, JSW भी है रेस में

भारत के चर्चित सीमेंट ब्रांड अंबुजा को खरीदने के लिए अडानी और JSW समूह ने अपने कदम बढ़ाए हैं। बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के मुताबिक इन दोनों समूह ने पिछले सप्ताह अंबुजा सीमेंट के अधिग्रहण के लिए गैर-बाध्यकारी बोलियां प्रस्तुत कीं। दोनों समूहों ने निजी इक्विटी (पीई) फर्मों के एक समूह के साथ अपनी फंडिंग की है। इसके साथ ही लेनदेन को जल्द से जल्द बंद करने की समयसीमा की पेशकश की है। 

आपको बता दें कि अंबुजा सीमेंट की पैरेंट कंपनी होल्सिम लिमिटेड ने भारत में अपने कारोबार बिक्री का फैसला लिया है। होल्सिम लिमिटेड की अंबुजा सीमेंट की 63.1 प्रतिशत की हिस्सेदारी पर कंट्रोल है। अंबुजा के कारोबार को खरीदने की रेस में अडानी समूह के अलावा डी-मार्ट के राधाकिशन दमानी, अमेरिकी निजी इक्विटी फर्म अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट, सज्जन जिंदल के नेतृत्व वाला JSW शामिल है।

इसके अलावा आदित्य बिड़ला समूह का अल्ट्राटेक सीमेंट भी अंबुजा के कारोबार में दिलचस्पी दिखा रहा है। हालांकि, नियामकीय मंजूरी मिलने पर इसके प्रस्ताव में देरी हो सकती है। 

अंबुजा के मुनाफे में गिरावट: मार्च, 2022 में समाप्त पहली तिमाही के दौरान अंबुजा का मुनाफा 30.26 प्रतिशत घटकर 856.46 करोड़ रुपये पर आ गया। तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 2.4 प्रतिशत बढ़कर 7,900.04 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। बता दें कि कंपनी का वित्त वर्ष जनवरी से दिसंबर होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top