IPO : निवेशकों को मिलेंगे जबरदस्त कमाई के मौके, आएंगे एक के बाद एक 9 आईपीओ

सेबी से अनुमति मिलने के बाद अब 9 और कंपनियां अपना आईपीओ बाजार में उतारने के लिए तैयार हैं. यह कंपनियां हैं डेल्हीवरी, फैब इंडिया, कैपिलरी टैक्नोलॉजीज, हर्षा इंजीनियरिंग, इनफीनियन बायोफार्मा, एथर इंडस्ट्रीज, सिरमा एसजीएस टेक्नोलॉजी, एशियानेट सैटेलाइट कम्युनिकेशन और सनातन टेक्सटाइल्स.

हालांकि, एक अन्य कंपनी आईनॉक्स ग्रीन ने आईपीओ के लिए दायर शुरुआती दस्तावेज वापस ले लिए हैं. अब यह कंपनी फिलहाल आईपीओ नहीं लाएगी. तो आइए बाकी 9 कंपनियों के आईपीओ से जुड़ी मुख्य बातें जान लेते हैं.

इसका आईपीओ 11 मई को ओपन हो सकता है और सब्सक्रिप्शन के लिए 13 मई तक खुला रहेगा. यह एक लॉजिस्टिक कंपनी है जो आईपीओ के जरिए 5,235 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है. हालांकि, इससे पहले कंपनी का इश्यू साइज 7,460 करोड़ रुपये था जिसे बाद में घटा दिया गया है. इसमें 4,000 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू हैं. आईपीओ से प्राप्त राशि को कंपनी के विकास के लिए इस्तेमाल किया जाएगा.

फैब इंडिया

यह भारत की अग्रणी पारंपरिक पोशाक निर्माता कंपनियों में से एक हैं. कंपनी ने इसी साल जनवरी में आईपीओ के लिए दस्तावेज सेबी के पास जमा किए थे. कंपनी 500 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी करेगी और 2.5 करोड़ इक्विटी शेयर ऑफर फोर सेल के जरिए आएंगे. आईपीओ से पहले कंपनी की 100 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है.

कैपिलरी टेक्नोलॉजीज

यह एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित क्लाउड-नेटिव सॉफ्टवेयर-एज-ए-सॉल्यूशन संबंधी सेवाएं देती है. इसका लक्ष्य आईपीओ के जरिए 850 करोड़ रुपये जुटाना है. इसमें 200 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू बाकी ऑफर फोर सेल के तहत जारी होंगे.

हर्षा इंजीनियरिंग

कंपनी ने इस साल फरवरी में आईपीओ के लिए आवदेन किया था. आईपीओ के जरिए कंपनी की 755 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इसमें 455 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू हैं. कंपनी इस राशि का इस्तेमाल कर्ज चुकाने, मशीनें खरीदने और इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने में करेगी.

सिरमा एसजीएस टेक्नोलॉजी

यह एक टेक्नोलॉजी आधारित डिजाइन कंपनी है जिसने पिछले साल दिसंबर में आईपीओ के लिए आवेदन किया था. यह आईपीओ के जरिए 1,000-1,200 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है. इसमें 926 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी होंगे.

एथर इंडस्ट्रीज

इसने भी पिछले साल दिसंबर में ही आईपीओ के लिए आवेदन किया था. कंपनी की 757 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है. इस रकम का इस्तेमाल कंपनी कर्ज चुकाने, प्रस्तावित ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट और वर्किंग कैपिटल की जरुरतों को पूरा करने के लिए करेगी.

एशियानेट सैटेलाइट कम्युनिकेशन

यह इंटरनेट सेवा प्रदाता कंपनी है. इसने पिछले साल दिसंबर में ही आईपीओ के लिए दस्तावेज जमा किए थे. कंपनी की योजना 765 करोड़ रुपये जुटाने की है. इसका प्रमोटर हैथवे इन्वेस्टमेंट 465 करोड़ के शेयर ऑफर फोर सेल के तहत जारी करेगा. राशि का इस्तेमाल कर्ज चुकाने और नेटवर्क को बढ़ाने में किया जाएगा.

सनातन टेक्सटाइल्स

कंपनी ने जनवरी में आईपीओ के लिए आवेदन किया था और इसके जरिए 1,000-1,200 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. इसमें 500 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू होंगे.

इन्फीनियन बायोफार्मा

कंपनी ने पिछले साल सितंबर में शुरुआती दस्तावेज सेबी के पास जमा किए थे. यह 45 लाख फ्रेश शेयर जारी करेगी. यह रकम मोबियस बायोकैमिकल में निवेश और महिलाओं के स्कीनकेयर व स्वास्थ्य संबंधी प्रोडक्ट्स बनाने के लिए लाइसेंस लेने में इस्तेमाल होगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top