शाहरुख के बेटे को क्लीन चिट:ड्रग्स केस में NCB ने अदालत में दायर की 6 हजार पेज की चार्जशीट, इसमें आर्यन का नाम नहीं

मुंबई के चर्चित कॉर्डेलिया क्रूज ड्रग्स केस में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने 6 हजार पेज की चार्जशीट स्पेशल NDPS कोर्ट में दायर की है। इसमें केस के सबसे बड़े आरोपी के रूप में पेश किए गए एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्लीन चिट मिल गई है। इस मामले में आर्यन को 2 अक्टूबर को अरेस्ट किया गया था और उन्हें 26 दिन बाद जमानत मिली थी।

SIT की जांच के बाद आर्यन को 6 नवंबर को जमानत दे दी गई थी। इस मामले में आर्यन सहित 19 लोग आरोपी थे।

अब केवल 14 लोगों पर चलेगा मुकदमा
चार्जशीट के मुताबिक, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की SIT को इस बात के कोई सबूत नहीं मिले हैं कि शाहरुख खान के बेटे आर्यन अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स तस्करी सिंडिकेट का हिस्सा थे। NCB के DDG संजय कुमार सिंह ने कहा कि आर्यन और मोहक को छोड़कर सभी आरोपी नशे की हालत में मिले। अब 14 लोगों के खिलाफ NDPS एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है। बाकी छह लोगों के खिलाफ सबूतों के अभाव में शिकायत दर्ज नहीं की जा रही है।

समीर वानखेड़े पर फिर उठे सवाल
इस चार्जशीट के सामने आने के बाद शुरुआत में इन्वेस्टिगेशन को लीड करने वाले NCB डायरेक्टर समीर वानखेड़े भी सवालों के घेरे में हैं। चार्जशीट के मुताबिक, SIT जांच के दौरान क्रूज पर हुई छापेमारी की कार्रवाई में भी कई अनियमितताएं मिली हैं। इस SIT का गठन कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक द्वारा NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर लगाए आरोपों के बाद किया गया था।

NCB ने एक प्रेस नोट जारी कर आर्यन को क्लीनचिट देने की बात मानी है।

सबूतों के अभाव में मिली है क्लीनचिट

एनसीबी के डीडीजी (ऑपरेशंस) संजय कुमार सिंह ने एक बयान में कहा है कि आर्यन और मोहक को छोड़कर सभी आरोपियों के पास से नशीले पदार्थ पाए गए। 14 लोगों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है। बाकी 6 लोगों के खिलाफ सबूतों के अभाव में शिकायत दर्ज नहीं की जा रही है।

अरबाज मर्चेंट और मुनमुन को बनाया गया आरोपी
आर्यन के आलवा इस केस में गिरफ्तार 5 अन्य आरोपियों का नाम सबूत न होने के चलते चार्जशीट में शामिल नहीं है। इनमें एविन शाहू, गोपाल जी आनंदो, समीर साईघान, भास्कर अरोड़ा और मानव सिंघली शामिल हैं। खास यह है कि आर्यन के दोस्त अरबाज मर्चेंट और इनके साथ पकड़ी गई मुनमुन धमिचा को NCB ने आरोपी बनाया है। अरबाज के पास से ड्रग्स बरामदगी की बात भी NCB की ओर से की गई है।

वानखेड़े के काम के तरीकों पर सवालिया निशान
इससे पहले SIT की जांच रिपोर्ट में मुंबई जोन के पूर्व डायरेक्टर समीर वानखेड़े के काम करने के तरीकों पर भी सवालिया निशान लगे थे। वानखेड़े को फिलहाल NCB से हटाकर उनके मूल कैडर यानी DRI में वापस भेज दिया गया है। जांच के दौरान SIT की टीम वानखेड़े का कई बार बयान दर्ज कर चुकी है। SIT टीम ने इस केस से जुड़े कई आरोपियों, गवाहों और चश्मदीदों के भी बयान लिए हैं।

क्रूज से बरामद हुई थी ड्रग्स
समीर वानखेड़े ने 2 अक्टूबर 2021 की रात को मुंबई के ग्रीन गेट पर अंतरराष्ट्रीय क्रूज टर्मिनल पर कॉर्डेलिया क्रूज में अपनी टीम के साथ कई घंटों तक छापेमारी की थी। एनसीबी को यहां से 13 ग्राम कोकीन, 5 ग्राम मेफेड्रोन, 21 ग्राम मारिजुआना, 22 गोलियां एमडीएमए (एक्स्टसी) और 1.33 लाख रुपए नकद बरामद हुए थे। जांच में सामने आया है कि क्रूज से एजेंसी ने 14 लोगों को पकड़ा था और कई घंटों की पूछताछ के बाद आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुम धमेचा को 3 अक्टूबर की दोपहर गिरफ्तार दिखाया था। इसके बाद धीरे-धीरे इस केस में 17 और लोगों को अरेस्ट किया गया।

वॉट्सऐप चैट को बनाया गया सबसे बड़ा सबूत

SIT की रिपोर्ट के मुताबिक, छापेमारी के बाद वॉट्सऐप चैट को सबसे बड़ा सबूत मानते हुए वानखेड़े की टीम ने दावा किया कि आरोपी एक बड़ी साजिश का हिस्सा थे। उन्होंने आरोप लगाया कि आर्यन खान कुछ विदेशी ड्रग्स पैडलर्स के संपर्क में था। सबूत में उन चैट को अदालत में पेश किया गया जिसमें “हार्ड ड्रग्स” और “बल्क क्वांटिटी” का उल्लेख किया गया था।

हालांकि एनसीबी के दावों को खारिज करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति नितिन डब्ल्यू साम्ब्रे की एकल पीठ ने कहा था कि किसी भी साजिश को साबित करने के लिए NCB के पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं। जज ने कहा था कि आर्यन खान और उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट और मॉडल मुनमुन धमेचा शिप पर थे, सिर्फ इसलिए उन्हें ड्रग्स रैकेट का हिस्सा नहीं बताया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top