केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने आज गुजरात के अहमदाबाद में 632 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले ओलिंपिक-स्तरीय स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का शिलान्यास किया

अहमदाबाद के नारणपुरा में आंतरराष्ट्रीय स्तर के स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का केन्द्रीय गृहमंत्री एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने केन्द्रीय खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर की उपस्थिति में आज शिलान्यास किया।

इस अवसर पर अपने संबोधन में श्री अमित शाह ने कहा कि आज इस क्षेत्र के युवाओं का एक बड़ा स्वप्न साकार होने जा रहा है। क्षेत्र में कई स्कूल ऐसे हैं जहां मैदान ही नहीं है, ऐसे में ये बच्चे कहां खेलेंगे। लेकिन अब इस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में पीटी का दिन निश्चित कर जिस स्कूल में मैदान नहीं है, वहां के बच्चे यहां खेलने के लिए आएंगे। आज से तीस माह बाद हम प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को इस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के उद्घाटन के लिए आमंत्रित करेंगे और मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि मैं ख़ुद इसकी मॉनिटरिंग करके ये सुनिश्चित करूंगा कि तीस महीनों में यह कार्य संपन्न हो। आज इस क्षेत्र के सांसद के तौर पर मैं देश के प्रधानमंत्री और गुजरात के सपूत श्री नरेन्द्र मोदी जी का हृदयपूर्वक आभार व्यक्त करता हूं कि अगर उनका सहयोग ना मिला होता तो यह कॉम्प्लेक्स कभी बनने वाला नहीं था।

श्री अमित शाह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने अहमदाबाद को खेलकूद के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय नाम बनाने के लिए अनेक सुविधाएँ दी हैं। उन्होंने कहा कि जब श्री नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने आबाद (ABAD) डेयरी में अनेक प्रकार के खेल खेलने के लिए एक इंडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स शुरु किया था। इसके अलावा अहमदाबाद में ही स्थित विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम भी नरेन्द्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम रखा गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस स्टेडियम के नज़दीक़ ही एक बहुत विशाल जगह सरदार पटेल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनाने के लिए दी है और यह स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनने के साथ ही अहमदाबाद एक ऐसा शहर बन जाएगा जहां ओलंपिक की तैयारी की जा सकेगी। सरदार पटेल स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, नरेन्द्र मोदी स्टेडियम, नारणपुरा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स और अन्य तीन स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स के साथ ही ओलंपिक के लिए सभी खेलों के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के मैदानों, स्टेडियमो की हमारी तैयारी पूरी हो जाएगी।

नारणपुरा में आंतरराष्ट्रीय स्तर के स्पोर्ट्स कोम्पलेक्स के शिलान्यास के अवसर पर केन्द्रीय खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुरने गुजरात को अभिनंदन देते हुए कहा कि लगभग 632 करोड की लागत से नारणपुरा स्पोर्ट्स कोम्प्लेक्स का शिलान्यास केन्द्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाहजी के प्रयासों से संभव हुआ है। जो इतने कम समय में कल्पना करना और उसे धरातल पर लाने का भगीरथ कार्य श्री अमित शाहजी ही कर सकते हैं।

केन्द्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का विजन है कि खेल संस्कृति को बढ़ावा देने और भारत को खेल महाशक्ति बनाने के लिए हमें लगातार प्रयास करने हैं। हमें एक समग्र इकोस्स्टिम तैयार करना है और भारत को खेलों में आगे बढ़ाने के लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि इस परिसर में जहां एक ओर राष्ट्र और विश्व स्तर पर खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए विश्व स्तरीय सुविधाएं तैयार की जा रही हैं तो वहीं स्थानीय नागरिकों के लिए भी पूरा प्रबंध किया गया है ताकि वह भी यहां आकर अपनी फिटनेस पर जोर दे सकें।

श्री ठाकुर ने कहा कि वह बड़ी जिम्मेदारी के साथ कह सकते हैं कि यह कांप्लेक्स इतना बड़ा बनेगा कि इसमें आलंपिक खेलों जैसे कार्यक्रम भी हो सकते हैं। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि गुजरात ने देश को प्रधानमंत्री भी दिए और गृहमंत्री भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि खेलों में अलग-अलग क्षेत्रों पर कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। श्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के विजन के अनुरूप खेल महाकुंभ से शुरूआत करते हुए देश में खेलो इंडिया का शुभारंभ हुआ। 4 जून से खेलो इंडिया यूथ गेम्स का शुभारंभ पंचकुला में होने जा रहा है और इसमें 8500 से ज्यादा खिलाड़ी और अधिकारी शामिल होंगे। इसका शुभारंभ केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह करने जा रहे हैं।

श्री ठाकुर ने बताया कि थोमस कप में 73 साल के बाद भारत की बेडमिंटन टीम ने मेडल जीता है। हमारे बहुत सारे लोगों ने तो थोमस कप का नाम भी सुना नहीं होगा क्योंकि 73 बरसों से भारत कभी वहां जीता ही नहीं था लेकिन अब भारत के खिलाड़ी भारत का नाम रोशन करने का काम कर रहे हैं। नारणपुरा स्पोर्ट्स कोम्प्लेक्स में स्थानीय खिलाड़ी खेलेंगे और आंतरराष्ट्रीय स्तर के गेम्स में मेडल जितेंगे। खेलों के लिए बजट यूपीए सरकार में 1200 करोड़ रुपये था, जो अब मोदी सरकार ने 3000 करोड़ कर दिया है। राज्य सरकारें, सांसद, विधायक और मेयर अपने स्तर पर टुर्नामेन्टस आयोजित करवाएं तो इस अभियान को ओर सफलतापूर्वक आगे बढ़ा सकते हैं।

श्री ठाकुर ने कहा कि खिलाड़ियों को अब खेलने, अच्छा प्रदर्शन करने और मेडल जीतने की चिंता करनी हैं क्योंकि उनकी बाकी चिंताएं मोदी जी ने ले ली हैं। श्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि मोदी जी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जो प्रतियोगिता में जाने से पहले भी खिलाड़ियों से बात करते हैं और वापसी में भी उनका स्वागत करते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top