केंद्रीय वित्त और कारपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण कल विज्ञान भवन में आयोजित कारपोरेट कार्य मंत्रालय के प्रतिष्ठित दिवस समारोह का उद्घाटन करेंगी

केंद्रीय वित्त और कारपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्रालय व कारपोरेट कार्य मंत्रालय के विशाल उत्सव के तहत कल नई दिल्ली में आजादी का अमृत महोत्सव (एकेएएम) के प्रतिष्ठित सप्ताह के दौरान कारपोरेट कार्य मंत्रालय (एमसीए) के प्रतिष्ठित दिवस समारोह को हरी झंडी दिखाएंगी। इस प्रतिष्ठित दिवस का आयोजन विज्ञान भवन के प्लेनरी हॉल में किया जाएगा।

इस अवसर पर केंद्रीय वित्त और कारपोरेट कार्य मंत्री मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित होंगी। वहीं, कारपोरेट कार्य, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन और योजना राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राव इंद्रजीत सिंह इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि होंगे।  

यह कार्यक्रम विभिन्न उद्योग विशेषज्ञों, उपभोक्ता व निवेशक हस्तियों, नियामक विशेषज्ञों, पेशेवरों, कारपोरेट नागरिकों, निवेशकों और अन्य हितधारकों का एक संगम होगा। इसके उद्घाटन सत्र के दौरान मुख्य अतिथि आठ प्रमुख रिलीज का अनावरण करेंगी, जो निम्नलिखित हैं :

विमोचन, शुभारंभ और पुरस्कार वितरण

लघु (शॉर्ट) फिल्म “भारत में कारपोरेट शासन की यात्रा: एक पैनोरमा” को रिलीज किया जाएगा। इस फिल्म में मुख्य रूप से भारत में कारपोरेट शासन का विकास को दिखाया जाएगा।निवेशक शपथ पर फिल्म की रिलीज- शपथ पर फिल्म जारी की जाएगी और पूरे भारत में 75 अनोखे स्थानों पर शपथ दिलाई जाएगी, जिसमें पूरे देश के मौजूदा और संभावित निवेशक आईईपीएफए के अधीन शपथ लेने के लिए शारीरिक और वर्चुअल मोड में एक साथ शामिल होंगे, जिससे वे सूचित और सशक्त निवेशक बन सकें।निवेशक जागरूकता पर स्मारक डाक टिकट जारी करना – निवेशक शिक्षा व संरक्षण कोष प्राधिकरण के अधिदेश के साथ समावेशी वित्तीय साक्षरता और निवेशक जागरूकता का संदेश देने वाला एक अद्वितीय डाक टिकट।विशेष खिड़की (विंडो) सुविधा की शुरुआत (75 वर्ष और उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए) – यह फिल्म 75 वर्ष और उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए की गई आईईपीएफए की अनूठी पहल को दिखाती है।राष्ट्रीय सीएसआर विनिमय पोर्टल की शुरुआत- सीएसआर पर एक डिजिटल पहल, जो हितधारकों को स्वैच्छिक आधार पर अपनी सीएसआर परियोजनाओं को सूचीबद्ध करने, खोज करने, प्रभाव डालने, शामिल करने और प्रबंधित करने में सक्षम बनाएगी। यह पोर्टल “कम सशक्त को प्रौद्योगिकी सशक्त बनाता है” के विचार का एक प्रमाण है।आईबीसी पर प्रकाशन का विमोचन – भारत में आईबीसी इकोसिस्टम के हितधारकों के लाभ के लिए इन्सॉल्वेंसी नॉउ एंड बियॉन्ड का विमोचन। यह प्रकाशन भारत में इन्सॉल्वेंसी (दिवाला) के तहत उभरते क्षेत्रों/मुद्दों पर ब्रिटेन के अनुभवों और सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों को कवर करने वाला एक संकलन है।आईबीसी, 2016- पर राष्ट्रीय ऑनलाइन क्विज के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान करना- पूरे देश में विभिन्न हितधारकों के बीच संहिता (कोड) के बारे में जागरूकता और समझ को बढ़ावा देने के लिए MyGov.in और बीएसई निवेशक सुरक्षा निधि के सहयोग से आईबीबीआई ने ‘दिवाला और दिवालियापन संहिता, 2016’ पर तीसरा राष्ट्रीय ऑनलाइन क्विज आयोजित किया था। इस क्विज में 71,000 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था।सीएसआर संग्रह पर एक सार-संग्रह ई-बुक विमोचन – यह हितधारकों के लाभ और सूचना प्राप्त करने में आसानी के लिए है। कारपोरेट कार्य के मंत्रालय ने सीएसआर पर सभी मौजूदा ज्ञान संसाधनों को एक स्रोत में संकलित किया और एक ई-पुस्तक “सीएसआर पर संग्रह” के रूप में विमोचन करने का प्रस्ताव रखा था।

 

इस कार्यक्रम में कारपोरेट कार्य मंत्रालय (एमसीए) के सचिव श्री राजेश वर्मा के साथ-साथ मंत्रालय के तहत अन्य अधीनस्थ और नियामक संगठनों के प्रमुख भी उपस्थित रहेंगे। आईईपीएफ प्राधिकरण, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग, भारतीय दिवाला और दिवालियापन बोर्ड, भारतीय कारपोरेट कार्य संस्थान और व्यावसायिक संस्थानों, जैसे कि आईसीएआई, आईसीएसआई, आईसीओएआई की ओर से विभिन्न अन्य तकनीकी सत्रों का आयोजन किया जाएगा।

इसके अलावा कार्यक्रम के दौरान अमृत महोत्सव की अवधि में मंत्रालय के अधीन संगठनों की ओर से संचालित विभिन्न गतिविधियों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।

इस कार्यक्रम में विभिन्न उद्योग विशेषज्ञ, उपभोक्ता व निवेशक हस्ती, नियामक विशेषज्ञ, पेशेवर, कारपोरेट नागरिक, निवेशक व अन्य हितधारक हिस्सा लेंगे। इसका सोशल मीडिया व अन्य चैनलों के माध्यम से लाइव वेबकास्ट (सीधा प्रसारण) भी किया जाएगा।

भारत में कारपोरेट शासन के सुविधा प्रदाता होने के चलते कारपोरेट कार्य मंत्रालय ने पिछले वर्षों में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत विभिन्न विषयों पर 360 से अधिक कार्यक्रमों का आयोजन किया है। इनमें विचार @ 75, संकल्प @ 75, कार्रवाई @ 75, उपलब्धियां @ 75 और स्वतंत्रता संग्राम की स्मृति शामिल हैं। ये कार्यक्रम देश के विभिन्न हिस्सों में जनभागीदारी की भावना से सभी प्रमुख हितधारकों को शामिल करते हुए आयोजित किए गए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top