मुख्य सलाहकार लागत का कार्यालय वित्त मंत्रालय के प्रतिष्ठित सप्ताह का आयोजन कर रहा है

वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग के अधीन मुख्य सलाहकार लागत का कार्यालय आजादी का अमृत महोत्सव (एकेएएम) के तहत वित्त मंत्रालय के प्रतिष्ठित सप्ताह का आयोजन कर रहा है। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 06 जून, 2022 को नई दिल्ली में किया। वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग का हिस्सा होने के चलते मुख्य सलाहकार लागत का कार्यालय इस सप्ताह के दौरान कार्यक्रमों/कार्यक्रमों की श्रृंखला का आयोजन निम्नलिखित रूप से कर रहा है:

6 जून, 2022 को “बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का मूल्यांकन और निगरानी – समय और लागत में बढ़ोतरी” पर संगोष्ठी7 जून, 2022 को “लोदी गार्डन से मुख्य सलाहकार लागत के कार्यालय तक वॉकथॉन”8 जून, 2022 को ‘विजन आईसीओएएस@2047’ पर कार्यशाला9 जून, 2022 को “वस्तु और सेवा कर अधिनियम के तहत इनपुट टैक्स क्रेडिट” पर कार्यशाला10 जून, 2022 को “संयुक्त लागत पर लागत लेखा मानक 19” पर कार्यशाला

इस समारोह के उद्घाटन भाषण में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री श्री पंकज चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री की सोच भारत को विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनाना और इसे अपनी स्वतंत्रता के 100वीं वर्षगांठ यानी 2047 तक विकसित राष्ट्र के दर्जे के नजदीक लाना है। उन्होंने आगे बताया कि सरकार ने विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के समयबद्ध निर्माण पर ध्यान केंद्रित किया है और 2022-23 के बजट में पूंजीगत व्यय में 35.4 की बढ़ोतरी की है।

श्री चौधरी ने कहा कि समय और लागत में बढ़ोतरी प्रधानमंत्री की सोच को प्राप्त करने में बाधा पैदा करती हैं। उन्होंने निर्माण के चरण में देरी के प्रबंधन और नियंत्रण के लिए तकनीक की आवश्यकता और तकनीकी व वित्तीय विशेषज्ञों को शामिल करके परियोजना को शुरू किए जाने से पहले उसके मूल्यांकन पर भी जोर दिया।

मंत्री ने आगे कहा कि अमृत काल के दौरान उत्कृष्ट मूल्यांकन के समय और परियोजना के पूरा होने के दौरान/बाद में आईसीओएएस अधिकारियों के एक स्वतंत्र समूह की ओर से परियोजनाओं के मूल्यांकन/निगरानी बुनियादी ढांचे के निर्माण में तेजी ला सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top