भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने रिन्यू एनर्जी ग्लोबल में सीपीपीआईबी द्वारा धारित वोटिंग के अधिकारों के अनुपात में वृद्धि को मंजूरी दी

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने रिन्यू एनर्जी ग्लोबल में सीपीपीआईबी द्वारा धारित वोटिंग के अधिकारों के अनुपात में वृद्धि को मंजूरी दी।

प्रस्तावित संयोजन में रिन्यू (बाइबैक) द्वारा घोषित क्लास ए साधारण शेयरों (यानी, वोटिंग अधिकार वाले शेयर) को बाइबैक करने के लिए पुनर्खरीद कार्यक्रम के परिणामस्वरूप कनाडा पेंशन प्लान इन्वेस्टमेंट बोर्ड (सीपीपीआईबी) द्वारा रिन्यू एनर्जी ग्लोबल पीएलसी (रिन्यू) में धारित वोटिंग के अधिकारों के अनुपात में वृद्धि की परिकल्पना की गई है। इस बाइबैक के परिणामस्वरूप, रिन्यू के वोटिंग शेयरों की कुल संख्या में कमी आने की उम्मीद है जिससे सीपीपीआईबी द्वारा धारित वोटिंग के अधिकारों के अनुपात में उसी अनुरूप वृद्धि हो सकती है।

सीपीपीआईबी एक निवेश प्रबंधन संगठन है। यह कनाडा पेंशन प्लान फंड (सीपीपी फंड) द्वारा हस्तांतरित उस धन का निवेश करता है, जिसकी जरूरत सीपीपी फंड द्वारा 21 मिलियन योगदानकर्ताओं एवं लाभार्थियों की ओर से वर्तमान लाभों का भुगतान करने के लिए नहीं है।

रिन्यू, अपनी सहायक कंपनियों एवं संयुक्त उद्यमों के साथ, गैर-पारंपरिक और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों के माध्यम से बिजली पैदा करने के व्यवसाय में संलग्न है।

इस संबंध में, सीसीआई का विस्तृत आदेश जल्द ही आएगा।  

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top