जन समर्थ पोर्टल 24/7 आधार पर उपलब्ध है

किया था। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत किसानराव कराड ने आज राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह बात कही।

मंत्री ने कहा कि “जन समर्थ” पोर्टल की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

i) यह सभी हितधारकों जैसे लाभार्थियों, वित्तीय संस्थानों, केंद्र/राज्य सरकार की एजेंसियों और नोडल एजेंसियों को एक साझा मंच प्रदान करता है।

ii) आवेदक वर्तमान में इस पोर्टल के माध्यम से 13 योजनाओं तक पहुँच सकता है।

iii) सब्सिडी पात्रता की जांच के लिए आवेदकों का सहज मार्गदर्शन।

iv) लाभार्थी के लिए सबसे उपयुक्त योजना की सिफारिश की सुविधा।

vi) डिजिटल सत्यापन के आधार पर ऋण आवेदन की डिजिटल स्वीकृति।

vii) लाभार्थी अपने ऋण आवेदन की स्थिति की जानकारी वास्तविक समय पर प्राप्त कर सकते हैं।

मंत्री ने कहा कि आवेदकों द्वारा “जन समर्थ” पोर्टल के उपयोग से ऋण आवेदन और धनराशि वितरण प्रक्रिया आसान हो जायेगी, क्योंकि आवेदन के अपलोड होने के बाद आगे की प्रक्रिया के लिए इसमें लगे नियम इंजन स्वतः काम करना शुरू कर देते हैं। इससे समय और मेहनत की बचत होगी, क्योंकि आवेदक पोर्टल पर ऋण के लिए आवेदन कर सकता है, जो 24/7 आधार पर उपलब्ध है।

पोर्टल वर्तमान में ऋण से जुड़ी 13 सरकारी योजनाओं के तहत युवाओं, छात्रों, उद्यमियों और किसानों के लिए ऋण की सुविधा देता है, जिनमें शिक्षा ऋण, कृषि ऋण, व्यावसायिक गतिविधि ऋण और आजीविका ऋण आदि शामिल हैं।

मंत्री ने कहा कि कोई भी आवेदक/लाभार्थी पंजीकरण कर सकता है, विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत पात्रता की जांच कर सकता है और जन समर्थ पोर्टल के माध्यम से डिजिटल ऋण अनुमोदन के लिए आवेदन कर सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top