Shark Tank India Judges Loss: ‘अमन गुप्ता को छोड़कर शार्क टैंक के सारे जज करोड़ों के घाटे में’, लिंक्डइन यूजर की पोस्ट वायरल

Shark Tank India Judges Networth: अकसर लोग सोचते हैं कि शार्क टैंक इंडिया के सारे जज करोड़ों रुपये का मुनाफा कमा रहे हैं. लेकिन एक लिंक्डइन यूजर ने कुछ अलग ही दावा किया है. शार्क टैंक के जजों में विनिता सिंह, गजल अलघ, अनुपम मित्तल, पीयूष बंसल, अश्नीर ग्रोवर, नमिता थापर और अमित जैन शामिल हैं. यह पोस्ट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर वायरल हो रही है. उसका दावा है कि BoAt के को-फाउंडर अमन गुप्ता के अलावा बाकी सारे शार्क टैंक के जज भारी नुकसान में हैं.

ऑथरप्रेन्योर और मार्केटर अंकित उत्तम ने लिंक्डइन पर बताया कि क्यों शार्क टैंक इंडिया कभी उनके काम नहीं आया, पहले सीजन में भी नहीं. उन्होंने भारतीय एडिशन और अमेरिकी वर्जन की तुलना भी की. उन्होंने लिखा, ‘अमेरिकी वर्जन में हर जज (बारबरा कोरकोरन, मार्क क्यूबन, लोरी ग्रीनर, रॉबर्ट हर्जेवेक, डेमंड जॉन और केविन ओ’लेरी) मुनाफे में चल रहा है न कि निवेशकों से लिए पैसों या फिर नुकसान में

उन्होंने लिखा, ‘SUGAR कॉस्मेटिक्स की विनिता सिंह को वित्त वर्ष 2022 में 75 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ, जबकि वित्त वर्ष 2021 में उन्हें 2.1 करोड़ का नुकसान झेलना पड़ा था.’

गजल अलघ की कंपनी मामाअर्थ को स्थापना के बाद पहली बार वित्त वर्ष 2022 में 14.44 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ. जबकि उन्हें वित्त वर्ष 2021 में 1,332 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2020 में 428 करोड़ रुपये का घाटा झेलना पड़ा था. हालांकि कंपनी को वित्त वर्ष 2023 के फर्स्ट हाफ में 4 करोड़ का नेट प्रॉफिट हुआ है. वह 24000 करोड़ रुपये का आईपीओ भी लाने जा रहे हैं, जबकि उनका प्रॉफिट सिर्फ 14 करोड़ रुपये है.

अंकित उत्तम ने आगे लिखा, ‘भारतपे को वित्त वर्ष 2022 में कुल 5,594 का नुकसान झेलना पड़ा था. जबकि वित्त वर्ष 2021 में कंपनी को 2,961 करोड़ रुपये का घाटा झेलना पड़ा था. कुछ वक्त पहले अश्नीर ग्रोवर को कंपनी से हटा दिया गया था. इसलिए ये नुकसान उनकी अगुआई के दौरान हुआ था. ‘

उन्होंने कहा, ‘अनुपम मित्त शादी डॉट कॉम, मकान डॉट कॉम, मौज मोबाइल के मालिक हैं. शादी जैसे ब्रांड को छोड़कर बाकी ब्रांड या तो खत्म हो चुके हैं या फिर पर्याप्त पैसा नहीं बना रहे हैं. ‘

यहां तक कि शादी डॉट कॉम की वित्तीय स्थिति सार्वजनिक नहीं की जाती है. हाल ही में एक रिपोर्ट इसके आईपीओ लाने या नहीं लाने पर आई थी. ऐसा ही एक प्रयास 2009 में किया गया था. आगे अंकित ने कहा कि पीयूष बंसल की लेंसकार्ट को वित्त वर्ष 2022 में 102.3 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

नमिता ठापर पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने लिखा, ‘नमिता एम्क्योर फार्मा की फाउंडर नहीं हैं. उनके पिता ने यह कंपनी शुरू की थी और वह अब भी उसके सीईओ हैं. इसलिए उनकी साख वैसी ही है जैसे बॉलीवुड में अनन्या पांडे की.(क्या किसी को नेपोटिज्म सुनाई दिया).’

कार देखो के अमित जैन को वित्त वर्ष 2021-22 में 246.5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था. उन्होंने कहा कि स्थापना के बाद से सिर्फ अमन गुप्ता की कंपनी ही मुनाफे में चल रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *